Monday, April 15, 2024
Home एजुकेशन KMV डीबीटी स्टार कॉलेज स्कीम के अंतर्गत छात्राओं के करियर को दे रहा है सकारात्मक दिशा

KMV डीबीटी स्टार कॉलेज स्कीम के अंतर्गत छात्राओं के करियर को दे रहा है सकारात्मक दिशा

by News 360 Broadcast

News 360 Broadcast (जालंधर/क्राइम)

जालंधर: जालंधर के कन्या महा विद्यालय द्वारा छात्राओं के सर्वपक्षीय विकास के मद्देनज़र सदा उनमें वैज्ञानिक चेतना पैदा करने के लिए विशेष
महत्वपूर्ण प्रयत्न किए जाते रहते हैं। इसी श्रंखला में विद्यालय को वर्ष 2015 से प्राप्त डीबीटी स्टार कॉलेज स्कीम के अंतर्गत शानदार कारगुज़ारी के आधार पर तीन वर्षों के बाद डीबीटी स्टार स्टेटस गरांट से भी सम्मानित किया गया। अंडर ग्रेजुएट स्तर पर यूनिवर्सिटीओं एवं कॉलेजों में विज्ञान विषय में अध्यापन में हैंडस ऑन ट्रेनिंग तथा प्रोजेक्ट्स के द्वारा उत्तमता लेकर आते हुए विज्ञान के विभिन्न पहलुओं पर आधारित शिक्षा के स्तर को ऊंचा उठाने के लिए उत्साहित करती इस स्कीम के अंतर्गत कन्या महा विद्यालय के द्वारा समय-समय पर महत्वपूर्ण गतिविधियों का आयोजन किया जाता रहता है।

विद्यालय छात्राओं के लिए जहां इस स्कीम के अंतर्गत इंडस्ट्रियल ट्रेनिंग, फील्ड विजिट्स और सीएसआइआर-आईजीआईबी, दिल्ली, सीएसआइआर-आईएचबीटी पालमपुर, गुजरात बोरोसिल आदि ने समर ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किए जा चुके हैं वहीं साथ ही विद्यालय के साइंस विभाग के द्वारा छात्राओं में वैज्ञानिक सोच को पैदा करने के मकसद के साथ लगभग 226 प्रोजेक्टस तथा 496 नए प्रयोग और डेमोंसट्रेशन तैयार की जा चुकी है। इसके अलावा समय-समय पर इंटर कॉलेज, इंटरा कॉलेज आदि प्रतियोगिताओं को आयोजित करने के इलावा विज्ञान एवं पर आधारित महत्वपूर्ण दिन मनाने के साथ-साथ छात्राओं को राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विज्ञान के क्षेत्र में उनके द्वारा हासिल की गई सफलता को प्रदर्शित करने के लिए मंच भी प्रदान किया जाता है तथा इनोवेस्टा, टॉयकाथोन, स्मार्ट इंडिया हैकाथोन आदि प्रोग्रामों में छात्राओं के द्वारा हासिल किए गए पुरस्कार इस बात की गवाही देते हैं।

केएमवी द्वारा जहां रिसर्च के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने के लिए सीड मनी प्रदान की जाती है वहीं साथ ही विद्यालय में इनोवेशन हब को भी स्थापित किया गया है। छात्राओं की सोच, शोध, नवीनताकारी प्रयत्नों आदि को प्रोत्साहित करती इस हब में अब तक 30 विभिन्न स्कूलों से विद्यार्थियों ने आकर विज्ञान के विभिन्न पहलुओं को बेहद सरल ढंग से समझा है। इसके साथ ही के.एम.वी. द्वारा समय-समय पर अनुभूति प्रोग्राम के आयोजन के अलावा इस स्कीम के अंतर्गत छात्राओं के लिए इनवाइटेड टॉकस, लेक्चरर्स, वेबीनार, कांफ्रेंस,राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर वर्चुअल विजिट्स भी आयोजित की जा चुकी है। फॉरेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट, देहरादून, सेंट्रल रिसर्च इंस्टीट्यूट, कसौली, कॉर्बेट नेशनल पार्क, उत्तराखंड आदि जैसे अनेक स्थानों पर एजुकेशनल ट्रिपस के आयोजन के साथ विद्यालय में जहां साइंस विभाग में 700 से भी अधिक पुस्तकों के साथ डिपार्टमेंटल लाइब्रेरी तैयार की गई है वहीं साथ ही अब तक साइंस फैकल्टी के द्वारा 5 पुस्तकों एवं 59 रिसर्च पेपर के
प्रकाशन के साथ साथ 2 पेटेंट, 7 बुक चैप्टर तथा 9 रिसर्च प्रोजेक्टस पर काम किया जा चुका है।

छात्राओं के लिए जहां अत्याधुनिक सुविधाएं मुहैया करवाते हुए 386 नए उपकरण लैब्स में लगाए गए हैं। वहीं साथी डिजिटल टेक्नोलॉजी के उपयोग के इलावा मूक प्रोग्राम के इलावा विभिन्न समय पर फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम भी आयोजित किए जा चुके हैं। इसके अलावा विद्यार्थियों को अपने प्राध्यापकों से प्राप्त होते उचित मार्गदर्शन के बल पर वह राष्ट्रीय अनिवेशका एक्सपेरिमेंटल स्किल टेस्ट पास कर चुकी है तथा केएमवी की छात्राओं को टॉप 1000 विद्यार्थियों में राष्ट्रीय स्तर पर भी पहचान प्राप्त हुई। विभिन्न समय के दौरान इंस्पायर प्रोग्राम आयोजित करने वाले कन्या महा विद्यालय के द्वारा कई कॉलेजों की डीबीटी स्टार कॉलेज स्कीम के अंतर्गत मेंटरिंग भी की जा चुकी है। विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने विद्यालय की साइंस फैकल्टी के द्वारा पिछले 5 वर्षों में इस स्कीम के अंतर्गत किए गए महत्वपूर्ण प्रयत्नों की भरपूर सराहना की।

You may also like

Leave a Comment