Monday, April 15, 2024
Home एजुकेशन KMV ने इन्नोवेटर्स तथा उभरते हुए उद्यमियों को किया सम्मानित

KMV ने इन्नोवेटर्स तथा उभरते हुए उद्यमियों को किया सम्मानित

by News 360 Broadcast

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (जालंधर/एजुकेशन)

भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर के द्वारा इनोवेशन तथा एंटरप्रेन्योरशिप के क्षेत्र में अग्रसर रहते हुए शानदार प्रदर्शन करने वाले इन्नोवेटर्स तथा अपने उभरते हुए उद्यमियों को सम्मानित किया। इस अवसर पर संबोधित होते हुए विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने बताया कि शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल के तहत स्थापित इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल (आई.आई.सी.) के माध्यम से अपनी छात्राओं में इनोवेशन और उद्यमशीलता को बढ़ावा देने वाले इकोसिस्टम के लिए पूरे देश में कुछ संस्थानों में से एक होने का गौरव विद्यालय को प्राप्त है।

के.एम.वी. में आई.आई.सी. का मुख्य उद्देश्य युवा प्रतिभाशाली दिमागों को अपनी प्रतिभा दिखाने, टीमों के रूप में एक साथ काम करने और विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए एक आदर्श मंच प्रदान करके उद्यमशीलता पहल में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करना है। संस्था के युवा इन्नोवेटरज़ और उद्यमी सक्रिय रूप से भाग लेकर क्षेत्रीय एंव राष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा हासिल कर रहे हैं. के.एम.वी. की इंस्टीट्यूशन इनोवेशन काउंसिल की अपनी अनूठी पहल है, जैसे इनोवेशन और उद्यमिता पर विशेष पाठ्यक्रम- इनोवेशन एंटरप्रेन्योरशिप एंड क्रिएटिव थिंकिंग, इंट्रा और इंटरकॉलेज बिजनेस आइडिया प्रतियोगिताएं, “वोमेंटम” समर्पित रूप से इनोवेशन और उद्यमिता पर गतिविधियों के लिए काम कर रहा है. के.एम.वी. में छात्राओं को स्टार्टअप में मार्गदर्शन करने के लिए प्री-इन्क्यूबेशन सेंटर और आई.पी.आर. सेल है।

प्रसिद्ध उद्यमी, सरकारी अधिकारी, विभिन्न क्षेत्रों के विशेषज्ञ छात्राओं को मार्गदर्शन और प्रेरित करने के लिए के.एम.वी. के आई.आई.सी. के तहत नियमित सुविधा बनाते हैं. इसके अलावा, के.एम.वी. में आई.आई.सी. छात्राओं को वित्तीय, तकनीकी और कानूनी पहलुओं के संदर्भ में उनकी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है. यह छात्राओं के लिए अपने कौशल और प्रतिभा को खोजने, विकसित करने और तैनात करने के लिए एक अभिनव वातावरण बनाने के साथ-साथ यह छात्राओं को अपने व्यावसायिक विचारों को वास्तविकता में बदलने, नई तकनीक,ज्ञान,नवाचार आधारित स्टार्ट-अप को बढ़ावा देने के अवसर प्रदान करके उद्यमशीलता संस्कृति को बढ़ावा देता है. इसके साथ ही उन्होंने आई.आई.सी. के अंतर्गत अध्यापकों के द्वारा छात्राओं को प्रदान किए जाते उचित मार्गदर्शन की सराहना की।

You may also like

Leave a Comment