Tuesday, April 16, 2024
Home एजुकेशन HMV में “स्पिरिचुअलिटी टू कंप्लीट फोर पर्सनैलिटी” विषय पर प्रोत्साहनात्मक संभाषण

HMV में “स्पिरिचुअलिटी टू कंप्लीट फोर पर्सनैलिटी” विषय पर प्रोत्साहनात्मक संभाषण

by News 360 Broadcast

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (जालंधर/एजुकेशन)

जालंधर के हंसराज महिला महाविद्यालय में प्राचार्या डा. अजय सरीन के दिशानिर्देशन अधीन ‘स्पिरिचुअलिटी टू कंप्लीट फोर पर्सनैलिटी’ विषय पर प्रोत्साहनवर्धक संभाषण का आयोजन एवं सुश्री बीनू राजपूत, मीडिया फार वैदिक एजुकेशन के सहयोग से निर्देशिका व निर्मित डाक्यूमैन्टऊी फिल्म भक्त भागवत: ए टिन्नी लवर ऑफ लॉड कृष्णा का विमोचन किया गया। इस अवसर पर मुख्यातिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में गौरांगा इंस्टिटयूट फार वैदिक एजुकेशन के संस्थापक व शिक्षागुरू डॉ. वृन्दावन चंद्र दास एवं उनकी धर्मपत्नी विष्णु प्रिया देवी दासी जी उपस्थित रही।

उनके साथ शिशु भक्त भागवत ने समागम को शोभायमान किया। सर्वप्रथम चेयरमैन लोकल एडवाइजरी कमेटी जस्टिस (रिटायर्ड) एन.के.सुूद जी ने भी अपनी उपस्थिति से समागम को शोभायमान किया। संस्था परम्परानुसार ग्रीन प्लांटर व उपहार भेंटकर गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया गया। शिशु भक्त भागवत ने संकीर्तन द्वारा समस्त सदस्यों को मंत्रमुग्ध किया। अपने ज्ञान व अध्यात्म द्वारा उन्होंने समस्त उपस्थित सदस्यों को लाभान्वित व आनन्दित किया। डॉ. वृन्दावन चंद्र दास ने अपने संभाषण में मन्त्रोच्चारण के माध्यम से सबको आनन्दित करते हुए अध्यात्मवाद पर विस्तृत चर्चा की। सर्वप्रथम चेयरमैन लोकल एडवाइजरी कमेटी जस्टिस (रिटायर्ड) एन.के.सुूद ने भी अपनी उपस्थिति से समागम को शोभायमान किया।

संस्था परम्परानुसार ग्रीन प्लांटर व उपहार भेंटकर गणमान्य अतिथियों का स्वागत किया गया। शिशु भक्त भागवत ने सकीर्तन द्वारा समस्त सदस्यों को मन्त्रमुग्ध किया। अपने ज्ञान व अध्यात्म द्वारा उन्होंने समस्त उपस्थित सदस्यों को लाभान्वित व आनन्दित किया। डॉ. वृन्दावन चंद्र दास ने अपने संभाषण में मन्त्रोच्चारण के माध्यम् से सबको आनन्दित करते हुए अध्यात्मवाद पर विस्तृत चर्चा की। उन्होंने शिक्षित किया कि मानव का धर्म सेवा भाव है एवं जीवन का आधार है उन्होंने सत् चित आनंद पर विचार प्रस्तुत किए एवं सोचने पर विवश किया कि वास्तव में हमारे जीवन का उद्देश्य क्या है।

मानव जीवन की सर्वश्रेष्ठता पर बात करते हुए उन्होंने जीवन को सह-उपयोगी बनाने हेतु शिक्षित किया। प्राचार्या डा. अजय सरीन ने अपने वक्तव्य में गणमान्य अतिथियों का स्वागत व आभार व्यक्त किया एवं कहा कि वास्तव में आज का पल यादाश्त पल है जो हमें ताउम्र स्मरण रहेगा। उन्होंने इस आयोजन हेतु सुश्री बीनू राजपूत के प्रति विशेष आभार व्यक्त किया एवं समस्त कार्यक्रम के आयोजन कर्ता डॉ. ज्योति गोगिया एवं सविता महेन्द्रू को सफल आयोजन की बधाई दी। मंच संचालन का कार्यभार डॉ.अंजना भाटिया द्वारा सफलता पूर्व सम्पन्न हुआ।

You may also like

Leave a Comment