बेलारूस के राष्ट्रपति ने पुतिन को बर्थडे पर क्यों दिया ट्रेक्टर , आओ जाने - News 360 Broadcast
बेलारूस के राष्ट्रपति ने पुतिन को बर्थडे पर क्यों दिया ट्रेक्टर , आओ जाने

बेलारूस के राष्ट्रपति ने पुतिन को बर्थडे पर क्यों दिया ट्रेक्टर , आओ जाने

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (इंटरनेशनल न्यूज़ ) Why did the President of Belarus give a tractor to Putin on his birthday   रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का शुक्रवार 7 अक्टूबर को जन्मदिन था और वह 70 साल के हो गए।पूर्व सोवियत संघ के कई देशों के कई नेताओं ने सेंट पीटर्सबर्ग के कोंस्तांतिन पैलेस में मुलाकात की और बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको ने पुतिन को वाहन का प्रमाणपत्र उपहार के तौर पर सौंपा।

रूस के राष्ट्रपति पुतिन इस समय अपने जीवन के सबसे मुश्किल दौर से गुजर रहे पुतिन के लिए पूरे देश में प्रार्थना सभाएं आयोजित की जा रही हैं। देश और दुनिया के तमाम नेता उन्हें बधाई दे रहे हैं। इसी क्रम में रूस के पड़ोसी देश बेलारूस ने पुतिन को ट्रैक्टर गिफ्ट किया है।

बेलारूस के राष्ट्रपति ने क्यों दिया ट्रैक्टर, सोवियत काल से है कनेक्शन

ज्ञात हो कि बेलारूस भी सोवियत संघ का हिस्सा था। इन देशों के लिए ट्रैक्टर का अपना महत्व है। इसी को देखते हुए बेलारूस के राष्ट्रपति ने, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को उनके 70वें जन्मदिन पर शुक्रवार को उन्हें उपहार में एक ट्रैक्टर भेंट किया। पूर्व सोवियत संघ के कई देशों के कई नेताओं ने सेंट पीटर्सबर्ग के कोंस्तांतिन पैलेस में मुलाकात की और बेलारूस के राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको ने पुतिन को वाहन का प्रमाणपत्र उपहार के तौर पर सौंपा। ट्रैक्टर, सोवियत काल से ही बेलारूस का औद्योगिक गौरव रहा है।

बेलारूस में करीब तीन दशक से सख्ती के साथ शासन करने वाले लुकाशेंको ने संवाददाताओं से कहा कि वह अपने बगीचे में ट्रैक्टर के जिस मॉडल का इस्तेमाल करते हैं उसी तरह का वाहन उन्होंने पुतिन को उपहार में दिया है। रूस के राष्ट्रपति ने लुकाशेंको के इस उपहार पर किस तरह की प्रतिक्रिया दी है, इसका अभी तत्काल पता नहीं चल सका है।

गौरतलब है कि रूस और यूक्रेन में चल रहे युद्ध में रूसी सेना को अपमानजनक तरीके से हार का सामना करना पड़ रहा है। नए सैनिकों की भर्ती की घोषणा के बाद हजारों की संख्या में रूसी लोग देश छोड़ रहे हैं और उनके अपने ही शीर्ष सहयोगी सार्वजनिक रूप से सैन्य नेताओं का अपमान कर रहे हैं। पुतिन का हर दांव खाली जाता प्रतीत हो रहा है और वह लगातार संकेत दे रहे हैं कि यूक्रेन में रूसी बढ़त को बचाने के लिए परमाणु हथियारों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह खौफनाक धमकी उनकी स्थिरता के वादे के विपरीत है जिसका निरंतर दावा वह गत 22 साल के अपने शासन में करते आए हैं।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)