रेलवे ने भारत की सबसे लम्‍बी एस्‍केप टनल का ब्रेक-थ्रू किया - News 360 Broadcast
रेलवे ने भारत की सबसे लम्‍बी एस्‍केप टनल का ब्रेक-थ्रू किया

रेलवे ने भारत की सबसे लम्‍बी एस्‍केप टनल का ब्रेक-थ्रू किया

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (जम्मू न्यूज़ ): Railways break-through of India’s longest escape tunnel : उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने बताया कि उत्तर रेलवे ने कटरा-बनिहाल सैक्‍शन पर सुम्‍बर और खारी स्‍टेशनों के बीच भारत की सबसे लंबी एस्‍केप, टनल टी-49 का ब्रेक-थ्रू कर एक बड़ी उपलब्‍धि हासिल की । यह सुरंग दक्षिण की ओर सुंबर स्टेशन यार्ड और सुरंग टी-50 को जोड़ते हुए उत्‍तर की ओर खोड़ा गांव में खोड़ा नाला पर ब्रिज नंबर 04 को जोड़ती है। सुरंग के भीतर का रूलिंग ग्रेडियेंट 80 में 1 है ।टनल टी-49 एक जुड़वां ट्यूब सुरंग है जिसमें मुख्य सुरंग (12.75 किलोमीटर) और एस्‍केप टनल (12.895 किलोमीटर ) है तथा यह प्रत्‍येक क्रॉस-पैसेज पर 33 क्रॉस पैसेजों से जुड़ी है । मुख्‍य सुरंग की खुदाई का कार्य पहले ही पूरा हो चुका है । निर्माण के दौरान कई चुनौतियों का सामना करना पड़ा । उत्तरी छोर पर, सुरंग संरेखण कार्बनसियस फ़िलाइट के एक बहुत ही कमजोर क्षेत्र से गुजरता है। सुरंग खनन बहुत चुनौतीपूर्ण था और सुरंग खोदने के दौरान कई आश्चर्य देखने को मिले। कुंदन और सीरन के बीच कई स्थानों पर सुरंग खोदने के दौरान अत्यधिक डी-फॉर्मेशन दर्ज किया गया, लेकिन इन चुनौतियों से सफलतापूर्वक पेशेवर तरीके से निपटा गया। साथ ही 21.03.2021 को 12/538 पर उत्तर पोर्टल के पास बेहद खराब रॉक मास के कारण, नम भूजल स्थितियों के साथ रॉक मास की ताकत 5 एमपीए और आरक्यूडी (रॉक क्वालिटी डेजिगनेशन) <10 से अधिक नहीं थी । सुरंग का निर्माण न्यू ऑस्ट्रियन टनलिंग मेथड द्वारा किया गया है, जो ड्रिल और ब्लास्ट प्रक्रियाओं की एक आधुनिक तकनीक है। यद्यपि सुरंग का बोरिंग कार्य, दोनों दिशाओं से हैंड शेकिंग प्‍वाइंट तक शुरू किया गया था, अत: दोनों सिरों की सटीकता एक बिंदु पर मिलती है। यह सावधानीपूर्वक बनाई गई योजना और टनलिंग कार्य के सटीक निष्पादन का परिणाम है । सुरंग की लाइन और लैवल ब्रेक-थ्रू के बाद दोनों भागों में पूरी तरह से मेल खाते हैं।
उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना (USBRL परियोजना) की कुल 272 किलोमीटर लंबाई में से 161 किलोमीटर को पहले ही चालू किया जा चुका है।
उल्लेखनीय है कि इस परियोजना में तीन और सुरंगें हैं, जिनकी लंबाई सुरंग टी-49 की लंबाई के तकरीबन आसपास ही है और इनका विवरण इस प्रकार है:
● टनल T48 = 10.20 किलोमीटर ब्रेक थ्रू (पहले से ही सफलता प्राप्त) ग्राम धरम-सुंबर स्टेशन के बीच।
● टनल टी15= 11.25 किमी संगलधन-बसिंधाधर स्टेशनों के बीच।
● पीरपंजाल सुरंग = 11.2 किमी बनिहाल-काजीगुंड स्टेशनों के बीच।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)