IMA का बड़ा ऐलान, Punjab के Private अस्पताल आज से इन मरीजों को नहीं करेंगे दाखिल - News 360 Broadcast
IMA का बड़ा ऐलान, Punjab के Private अस्पताल आज से इन मरीजों को नहीं करेंगे दाखिल

IMA का बड़ा ऐलान, Punjab के Private अस्पताल आज से इन मरीजों को नहीं करेंगे दाखिल

Listen to this article

जालंधर: पंजाब की मान सरकार के उदासीन रवैये से क्रोधित हुए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने फैसला लिया है कि सोमवार से निजी अस्पतालों में आयुष्मान भारत, मुख्यमंत्री सेहत बीमा योजना के अधीन नए मरीजों को दाखिल नहीं किया जाएगा।

जानकारी मुताबिक इंडियन मेडिकल एसोसिएशन पंजाब की इकाई के प्रधान डाॅ. परमजीत सिंह मान ने इसकी शुरुआत कर दी है। डाॅ. मान ने का कहना है कि आयुष्मान योजना के अधीन प्राइवेट अस्पतालों का करीब 250 करोड़ रुपए बकाया राशि क्लियर नहीं की जा रही।आईएमए के सीनियर सदस्य और प्राइवेट अस्पतालों के डाॅक्टर्स ने सेहत मंत्री और फाइनेंस विभाग के अधिकारियों के अलावा सेक्रेटरी के साथ भी मीटिंग की गई थी। जिसमें उन्हें आश्वासन दिया गया था कि अदायगी जल्द होगी, लेकिन 20 दिन निकलने के बाद भी इलाज का कोई पैसा नहीं मिल रहा है। जिसके चलते अब अस्पतालों में योजना के अधीन नए मरीज दाखिल नहीं होंगे।

अस्पतालों में पहले दाखिल मरीजों को नहीं रुकेगा इलाज
आईएमए ने कहा कि पंजाब के लगभग 700 से अधिक प्राइवेट अस्पतालों में इस योजना के अंर्तगत मरीजों का ईलाज हुआ है। एसोसिएशन के सदस्य ईलाज करने से मना भी नहीं कर रहे, लेकिन बकाया राशि ज्यादा होने के कारण अस्पताल प्रबंधक इस फैसले को मजबूर हैं। डाॅ. परमजीत सिंह मान का कहना है जब तक सरकार आने वाले दिनों में बकाया राशि का कम से कम 60 फीसदी पैसा नहीं देती, तब तक प्राइवेट अस्पतालों में इलाज बंद ही रहेगा। जबकि किसी भी अस्पताल की तरफ से योजना का बायकाट नहीं किया जा रहा है।

बताया जा रहा है कि इस योजना के अधीन इलाज बंद करने के बारे में अस्पतालों की तरफ से सरकार को संदेश भेजा जा चुका है, लेकिन अधिकारी या मंत्री स्तर पर हमारे बकाये को लेकर कोई बात नहीं की गई है। इस कारण अब योजना के अधीन इलाज बंद करने का फैसला लिया गया है। जिन प्राइवेट अस्पतालों में पहले से योजना के अधीन मरीज इलाज करवा रहे हैं, उनका अस्पताल में इलाज पहले की ही तरह जारी रहेगा, जबकि नए मरीजों को दाखिल नहीं किया जाएगा।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)