पटियाला हिंसा: 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना, जानिए दर्ज हैं कितने मामले - News 360 Broadcast
पटियाला हिंसा: 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना, जानिए दर्ज हैं कितने मामले

पटियाला हिंसा: 4 दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा गया मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना, जानिए दर्ज हैं कितने मामले

Listen to this article

पटियाला: पंजाब के पटियाला में शुक्रवार को हुई हिंसक झड़प के मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना को पटियाला पुलिस ने मोहाली से गिरफ्तार कर लिया है। जिसके बाद उसे पटियाला कोर्ट में पेश किया गया। पेशी के बाद पटियाला की माननीय अदालत ने माटरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना को 4 दिनों तक पुलिस रिमांड पर भेजा दिया है। परवाना एक आपराधिक इतिहास वाला व्यक्ति है, जिसके खिलाफ अतीत में 4 मामले दर्ज हैं।

पटियाला रेंज के नए पुलिस महानिरीक्षक मुखविंदर सिंह छिना ने कहा कि परवाना एक स्वयंभू सिख नेता हैं, जो समर्थन हासिल करने के लिए सोशल मीडिया पर अपमानजनक भाषण देते हैं। दमदमी टकसाल राजपुरा के एक शिष्य, परवाना को सख्त आतंकवाद विरोधी कानून गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम और 1984 के दंगों पर उनकी टिप्पणियों के लिए भी जाना जाता है।

उन्होंने कहा कि अब तक कुल 25 आरोपियों में से परवाना सहित 4 को गिरफ्तार किया जा चुका है। इस मामले में हरीश सिंगला, दलजीत सिंह और कुलदीप सिंह को पहले ही गिरफ्तार किया जा चुका है। शुक्रवार की झड़प के कुछ घंटे बाद, पुलिस ने बिना अनुमति के जुलूस निकालने और हिंसा भड़काने के आरोप में “शिवसेना (बाल ठाकरे)” नामक एक समूह के “कार्यकारी अध्यक्ष” हरीश सिंगला को गिरफ्तार किया था।

जानिए, कौन है मास्टरमाइंड बरजिंदर सिंह परवाना
बरजिंदर परवाना राजपुरा का रहने वाला है। वह गगन चौक के नज़दीक गोबिन्द सिंह नगर में रहता है। परवाना ने हरनाम सिंह धुंमा प्रमुख दमदमी टकसाल के पास से अमृतपान किया हुआ है। बरजिंदर परवाना साल 2007-08 में सिंगापुर चला गया। 17-18 महीने सिंगापुर रहने बाद वापस लौट आया और धार्मिक दीवान लगा कर सीखी का प्रचार कर लगा। पटियाला हिंसा के मुख्य आरोपी बरजिंदर सिंह परवाना पर पहले भी चार मामले दर्ज हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि शुक्रवार को पटियाला के काली देवी मंदिर की ओर जा रही रैली के दौरान झड़प हो गई थी। भगवंत मान के मुख्यमंत्री बनने के बाद राज्य में पहली बार इस तरह की हिंसा देखने को मिली है। इस घटना को लेकर विपक्ष की ओर से सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी(आप) की आलोचना हो रही है।

CATEGORIES
TAGS
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)