मोदी सरकार ने इन राज्यों को कोयला सप्लाई के लिए शुरू की नीलामी प्रक्रिया - News 360 Broadcast
मोदी सरकार ने इन राज्यों को कोयला सप्लाई के लिए शुरू की नीलामी प्रक्रिया

मोदी सरकार ने इन राज्यों को कोयला सप्लाई के लिए शुरू की नीलामी प्रक्रिया

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (नेशनल न्यूज़ ): Modi government started auction process for coal supply to these states : कोयला मंत्रालय ने नीलामी के लिए महाराष्ट्र राज्य से 13 कोयला खंडों की पेशकश की है। केंद्रीय संसदीय कार्य, कोयला और खान मंत्री प्रह्लाद जोशी ने आज मुंबई में एक निवेशक सम्मेलन में बताया कि इनमें से 5 कोयला खंड पूरी तरह से खोजे जा चुके हैं और 8 कोयला खंडों का आंशिक रूप से पता लगाया जा चुका है। पहले पांच चरणों में 64 कोयला खदानों की सफल नीलामी के बाद, कोयला मंत्रालय ने वाणिज्यिक नीलामी के छठे दौर के अंतर्गत 133 कोयला खदानों की नीलामी की प्रक्रिया शुरू की थी, जिनमें से 71 कोयला खदानें नई कोयला खदानें हैं और 62 कोयला खदानें चालू हैं। नवंबर 2022 में वाणिज्यिक नीलामी के पहले चरणों का आयोजन किया गया था। इसके अतिरिक्त, वाणिज्यिक नीलामी के 5वें दौर के दूसरे प्रयास के अंतर्गत आठ कोयला खदानों की भी शुरूआत की गई है, जहां पहले प्रयास में एकल बोली प्राप्त हुई थी। इसलिए ग्यारह कोयला उत्पादक राज्यों को शामिल करने वाली 141 खदानों की सबसे बड़ी खेप इस बार पेश की जा रही है। केंद्रीय मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा, “कोयले की हमारी आवश्यकता बढ़ रही है, वर्ष 2013-14 में हमने कुल 572 मिलियन टन कोयले की लदान की थी, पिछले वर्ष यह 817 मिलियन टन थी और इस वर्ष यह 900 मिलियन टन होगा। इसके बावजूद घरेलू उत्पादन से देश की कोयले की मांग को पूरा नहीं किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि जहां कुल घरेलू कोयले का उत्पादन 1 अरब टन होगा, वहीं कुल मांग 1,300 – 1,400 मिलियन टन होगी। कोयला मंत्री ने कहा कि अब चूंकि, देश कोयला क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने का लक्ष्य बना रहा है, इस पर विचार-विमर्श चल रहा है कि देश स्थायी कोयला खनन कैसे कर सकता है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)