चंद्र ग्रहण ख़तम।।। - News 360 Broadcast
चंद्र ग्रहण ख़तम।।।

चंद्र ग्रहण ख़तम।।।

Listen to this article

भारत में दिखा चांद पर लगा पूरा ग्रहण, तुरंत करें ये 6 काम

चंद्र ग्रहण खत्म हो गया है। ऐसे में चंद्र ग्रहण के नकारातमक प्रभाब को ख़तम करने के लिए करें ये काम।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार, चंद्र ग्रहण को काफी अशुभ माना जाता है। मान्यता के अनुसार, चंद्रमा मन का कारक माना जाता है। जिसकी वजह से इसका सीधा असर व्यक्ति के शरीर और मन पर पड़ता है. ऐसा माना जाता है कि चंद्र ग्रहण के समय वातावरण में सबसे अधिक नकारात्मक ऊर्जा फैलती है। भारत में इस बार चंद्र ग्रहण दृश्य था इसलिए इसका असर और ज्यादा होगा। चलिए जानते हैं कि चंद्र ग्रहण के बाद कौन कौन से कार्य करने चाहिए ……

चंद्र ग्रहण के बाद करें यह कार्य

1. स्नान करना बेहद जरूरी 

धार्मिक रीति-रिवाजों के अनुसार चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण के बाद स्नान करना बेहद जरूरी माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि ग्रहण से निकलती हुई किरणों में  कुछ अशुद्धियां हो जाती हैं। जिसके प्रभाव को कम करने के लिए ग्रहण के बाद स्नान करना चाहिए।

2. वासा भोजन न खाएं

चंद्र ग्रहण के बाद बासी खाना या रात का बचा हुआ भोजन नहीं करना चाहिए। ऐसा भोजन पशुओं को डाल दें. यदि घर में दूध से बनी चीजें रखी है तो उनको फैकना नहीं चाइये अपितु उसमें तुलसी के पते डाल दें।

3. पूजा घर को गंगा जल से साफ करें

ग्रहण के बाद पूजा घर में रखी भगवान की मूर्तियों को गंगाजल से साफ करें। इसके बाद आप जिस भी भगवान को आप मानते है, उसे अपनी मान्यताओं के अनुसार भोग लगाएं। भगवान को भोग लगाने के बाद ही कुछ खाएं या पिएं।

4. दान का कार्य करें

ग्रहण के बाद दान करना बेहद शुभ माना जाता है। ऐसे में सफेद वस्तुओं का दान करना तो और भी शुभ माना जाता है। आप खाने की कोई सफेद वस्तु या सफेद कपड़ा भी दान कर सकते है। इसके अलावा आप ज़रूरतमंदों को अन्न -दान भी कर सकते है।

5. घर की साफ सफाई करें

ग्रहण काल की समाप्ति के बाद घर की साफ-सफाई करना भी बेहद जरूरी माना जाता है. पानी में गंगाजल मिलाकर घर के सभी हिस्सों में उसका छिड़काब करके भी घर का शुद्धिकरण किया जा सकता है।

6. करें शिव जी की आराधना

चंद्र ग्रहण के बाद भगवान शिव की पूजा करने से ग्रहण का प्रभाव कम हो सकता है। शिवलिंग पर भगवान शिव की प्रिय चीजें चढ़ाएं और सच्चे मन से भगवान् शिव की आराधना करें।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)