Kmv द्वारा इंट्रोडक्शन टू एंटरप्रेन्योरशिप और क्रिएटिविटी एंड इन्नोवेशन विषय पर सेशंस आयोजित - News 360 Broadcast
KMV द्वारा इंट्रोडक्शन टू एंटरप्रेन्योरशिप और क्रिएटिविटी एंड इन्नोवेशन विषय पर सेशंस आयोजित

KMV द्वारा इंट्रोडक्शन टू एंटरप्रेन्योरशिप और क्रिएटिविटी एंड इन्नोवेशन विषय पर सेशंस आयोजित

Listen to this article

विद्यार्थी सफल उद्यमी बनने के लिए क्रिएटिविटी और इनोवेशन की भावना पैदा करें: मेजर जनरल (डॉ.) जी.जी. दिवेदी

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (एजुकेशन न्यूज़ ) KMV organizes sessions on Introduction to Entrepreneurship and Creativity & Innovation  भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर अपनी छात्राओं को उच्च स्तरीय शिक्षा प्रदान करते हुए उन्हें मुकाबले के युग में रोज़गार के शानदार अवसर प्राप्त करने के योग्य बनाने की दिशा में निरंतर प्रयासरत है. ऑटोनॉमस दर्जे के साथ विद्यालय के द्वारा शिक्षा प्रणाली में लाए गए महत्वपूर्ण सुधारों के अंतर्गत अंडर ग्रेजुएट स्तर पर प्रत्येक सेमेस्टर में वैल्यू ऐडेड कोर्स लाज़मी तौर पर शुरू किए गए है। इन कोर्सेज में से पांचवें सेमेस्टर के लिए चलाए जा रहे इनोवेशन, एंटरप्रेन्योरशिप एंड क्रिएटिव थिंकिंग कोर्स के अंतर्गत छात्राओं के लिए इंट्रोडक्शन टू एंटरप्रेन्योरशिप और क्रिएटिविटी एंड इन्नोवेशन विषय पर सेशंस आयोजित किए गए। छात्राओं में इनोवेशन और उद्यम की भावना पैदा करने के मकसद के साथ आयोजित हुए इन सेशंस में मेजर जनरल (डॉ.) जी.जी. दिवेदी, एस.एम., वी.एस.एम., तथा बी.ए.आर. ने बतौर स्रोत वक्ता शिरकत की। छात्राओं से संबोधित होते हैं उन्होंने सबसे पहले जहां उन्हे एंटरप्रेन्योरशिप के अर्थ से अवगत करवाया वहीं साथ ही उन्होंने अवसर की पहचान एवं मूल्यांकन, कारोबार की योजनाओं के विकास, ज़रूरी स्रोतों को निर्धारित करने एवं प्रमाण के रूप में उद्यम के प्रबंधन के संबंध में बात करते हुए उद्यमी प्रक्रिया को विस्तार से समझाया। डॉ. द्विवेदी ने आगे बात करते हुए बताया कि सृजनात्मकता इनोवेशन एवं तरक्की को चलाती है और साथ ही छात्राओं को नियम की पहचान एवं लागू करने की बजाय सृजनात्मक ढंग के साथ किसी भी समस्या का हल ढूंढने वाले बनने के लिए उत्साहित किया। इसके अलावा उन्होंने अच्छे उद्यमी बनने के लिए नेगोशिएशन स्किल्स के महत्व पर भी ज़ोर दिया। इसके साथ ही सेशंस के अंत में दो छात्राओं शुभनीत कौर एवं श्रुति कालिया के द्वारा केस स्टडीज़ भी सांझा की गई। जनरल द्विवेदी ने छात्राओं के इनोवेटिव आइडिया की सराहना करते हुए सभी छात्राओं को इनोवेटिव एवं सृजनात्मक बनने के लिए प्रेरित किया। विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने मेजर जनरल (डॉ.) जी.जी. दिवेदी के द्वारा छात्राओं को विषय की महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया और कहा कि विद्यार्थियों को नौकरी प्राप्त करने वाले बनने की बजाय प्रदान करने वाले और खुद के काम खोलने की दिशा की ओर बढ़ना चाहिए तथा कन्या महाविद्यालय के द्वारा छात्राओं के उद्यमी गुणों को और अधिक निखारने के लिए किए जाते प्रयत्न यकीनन ही इस दिशा में फायदेमंद साबित होंगे।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)