HMV में कवि दरबार का आयोजन - News 360 Broadcast
HMV में कवि दरबार का आयोजन

HMV में कवि दरबार का आयोजन

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (एजुकेशन न्यूज़ ,जालंधर ): Kavi Darbar organized in HMV :हंस राज महिला महाविद्यालय के पीजी विभाग पंजाबी की ओर से पंजाबी माह-2022 के अन्तर्गत भाषा विभाग के सहयोग से कवि दरबार का आयोजन किया गया। बतौर मुख्यातिथि एमएलए श्री रमन अरोड़ा विशेष रूप से उपस्थित हुए। प्रधानगी मंडल में वरिष्ठ पत्रकार श्री जतिंदर पन्नू शामिल थे। प्राचार्या प्रो. डॉ. (श्रीमती) अजय सरीन ने एमएलए श्री रमन अरोड़ा, श्री जतिंदर पन्नू, सहायक डायरेक्टर भाषा विभाग पटियाला श्री सतनाम सिंह, श्री प्रवीण कुमार, डॉ. संतोख सिंह, श्री भगवान सिंह, सुश्री नवनीत कौर, भाषा विभाग जालंधर, डॉ. नवजोत कौर, प्राचार्या खालसा कॉलेज फॉर वुमैन, डॉ. गोपाल बुटर, श्री संधू वरियाणवी, श्री कुलवंत सिंह औजला, श्री सरदूल सिंह औजला, श्रीमती नवरूप, श्रीमती कुलजीत कौर, डॉ. संदीप कौर का प्लांटर भेंट कर स्वागत किया। उन्होंने कहा कि पंजाबी विभाग पंजाबी भाषा को और प्रोमोट करने के लिए जो कार्य कर रहा है, वह प्रशंसनीय है। उन्होंने उपस्थित गणों को बताया कि एचएमवी की ओर से भी पंजाबी भाषा को शिखर पर ले जाने के लिए निरंतर प्रयास किए जाते रहते हैं, जिनमें शुरूआती समय में एम.ए. पंजाबी मुफ्त करवाना, कॉलेज प्रांगण में सभी साइन बोर्ड पंजाबी में लगवाना शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कवि अपनी रचना से समाज की नबज़ पकड़ कर लिखे तो समाज को नई राह दिखा पाता है। कवि अपनी भाषा से समाज के हर वर्ग को प्रभावित करता है। मातृ भाषा में कही गई बात का प्रभाव सदा अधिक रहता है। मुख्यातिथि श्री रमन अरोड़ा ने स्वरचित कुछ पंक्तियां गा कर सुनाई तथा कार्यक्रम का आगाज़ किया। उन्होंने कहा कि पंजाबी भाषा के प्रचार व प्रसार के लिए वह हर प्रकार का समर्थन देंगे। सभी उपस्थित कवियों ने अपनी रचनाएं सुनाईं जिनमें उन्होंने विभिन्न विषयों को छुआ जैसे पंजाब की वर्तमान स्थिति, नारी उत्थान, गुरु तेग बहादुर जी की शहीदी तथा पंजाबी भाषा का महत्त्व के बारे में बताया। इस अवसर पर श्री सुखदेव तथा श्री मनोज ने भी अपनी रचनाएं सुनाईं। समारोह के प्रधान श्री जतिंदर पन्नू ने एचएमवी के प्रयास की सराहना की तथा कहा कि हर क्षेत्र में एचएमवी ने सदा इतिहास रचा है। उन्होंने कहा कि भाषा ही सभी को एक बंधन में बांधती है। हम हर संस्कृति से सीखते हैं परंतु अपनी जड़ों से जुड़े रहना अति आवश्यक है। देश में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। भाषा को बचाना हमारी युवा पीढ़ी की जिम्मेदारी है। भाषा विभाग पंजाब की ओर से प्राचार्य डॉ. अजय सरीन को फुलकारी व सर्टीफिकेट देकर पंजाबी भाषा के प्रति उनके अमूल्य योगदान के लिए उन्हें सम्मानित किया गया। सभी कवियों को भी सम्मानित किया गया। श्री सतनाम सिंह ने सभी का धन्यवाद किया। कार्यक्रम का सफलतापूर्वक संचालन विभागाध्यक्षा श्रीमती नवरूप, श्रीमती कुलजीत कौर व डॉ. संदीप कौर द्वारा किया गया। इस अवसर पर पंजाबी पुस्तकों की एक प्रदर्शनी भी आयोजित की गई थी।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)