Ivf नि :संतान दम्पतियों के लिए वरदान - News 360 Broadcast
IVF नि :संतान दम्पतियों के लिए वरदान

IVF नि :संतान दम्पतियों के लिए वरदान

Listen to this article
  • वर्ल्ड IVF दिवस पर हमने होप फर्टिलिटी सोलूशन्स की डायरेक्टर डॉ निति छाबड़ा से IVF सम्बंदित कुछ बातचीत की आओ जानें उसके कुछ ख़ास अंश

जानें क्या है IVF तकनीक और इस प्रक्रिया से जुड़ी जरूरी बातें – डॉ.नीति छाबड़ा गुप्ता

आधुनिक जीवन शैली से जुडी व्यस्तता ने जिन समस्याओं को जन्म दिया है इन्फर्टिलिटी भी उन्हीं में से एक है।खासतौर से महानगरों में निसंतान दंपतियों की तादाद बहुत तेजी से बढ रही है।

स्ट्रेसफुल लाइफ स्टाइल, करिय रकी मारामारी, देर से शादी और उसके बाद भी लंबे समय तक फैमिली प्लानिंग न करने का फैसला आगे चल कर महिलाओं से लेकर पुरुषों तक में इन्फर्टिलिटी की बड़ी वजह बनता जार हा है।जिससे लोग हताश हो रहे हैं लेकिन अब ये सारी समस्याएं लाइलाज नहीं।क्योंकि आइवीएफ तकनीक ऐसे कपल के लिए वरदान साबित हो रही है।जानेंगे क्या है IVF और कैसे पूरी होती है यह प्रक्रिया।

क्या हैआइवीएफ

आइवीएफ यानी इन विट्रो फर्टिलाइजेशन, संतान हीनता से जूझ रहे दंपतियों के लिए कारगर इलाज है।इसके तहत स्त्री के शरीर से एग्स निकाल कर प्रयोगशाला में उनका मेल पति के स्पर्म्स से कराया जाता है।यह प्रक्रिया इस तरह पूरी की जाती है :

1- पीरियड्स के बीसवें दिन से स्त्री को ऐसे इंजेक्शन दिए जाते हैं, जिससे उसके शरीर में एक से ज्य़ादा एग्स का विकास किया जा सके।

2- इसके के बाद सोनोग्राफी की मदद से यह जांच की जाती है कि एग्स परिपक्व हुए या नहीं।परिपक्व होने पर इन्हें निकाल लिया जाता है।एग्स निकालने से कुछ घंटे पहले स्त्री के पति के सीमन से कुछ अच्छी गुणवत्ता वाले स्पर्म्स को अलग कर उन्हें एग्स से मिलाकर कल्चर डिश में डाल दिया जाता है।फिर यह डिश इनक्यूबेटर में सुरक्षित रख दी जाती है।निषेचन की प्रक्रिया सेबने भ्रूण (एम्ब्रियो) को चार कोशिकाओं के स्तर तक प्रयोगशाला में रखा जाता है। 48 घंटे बाद इसे स्त्री के यूट्रस में प्रत्यारोपित किया जाता है।

3- गर्भधारण की इस प्रक्रिया के पूर्ण होने के दो हफ्तेबाद स्त्री का प्रेग्नेंसी टेस्ट करवाकर यह सुनिश्चित किया जाता है कि भ्रूण ने सही विकास आरंभ किया है या नहीं।गर्भधारण की शुरुआत में ही हॉर्मोंस दिए जाते हैं, ताकि भ्रूण का सही ढंग से विकास हो सके और गर्भपात की आशंका न हो।इन्हीं दिनों सभी सामान्य परीक्षण भी किए जाते हैं, जोकि उसके स्वास्थ्य के लिए बेहद जरूरी हैं।

 

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)