KMV द्वारा ड्रग प्रीवेंशन एंड रोल ऑफ ए साइकोलॉजिस्ट विषय पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया - News 360 Broadcast
KMV द्वारा ड्रग प्रीवेंशन एंड रोल ऑफ ए साइकोलॉजिस्ट विषय पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया

KMV द्वारा ड्रग प्रीवेंशन एंड रोल ऑफ ए साइकोलॉजिस्ट विषय पर अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (एजुकेशन न्यूज़ ,जालंधर ): International Webinar on Drug Prevention and Role of a Psychologist organized by KMV : भारत की विरासत एवं ऑटोनॉमस संस्था, कन्या महा विद्यालय, जालंधर के पोस्टग्रेजुएट डिपार्टमेंट ऑफ साइकोलॉजी द्वारा ड्रग प्रीवेंशन एंड रोल ऑफ ए साइकोलॉजिस्ट विषय पर एक अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। इस आयोजन में डॉ. कैथलीन फेलविंकी, प्रोफेसर और डीन कमिश्नर, फैकल्टी ऑफ एजुकेशन एंड साइकोलॉजी, ईटोवोस लोरंड यूनिवर्सिटी, बुडापेस्ट, हंगरी ने स्रोत वक्ता के रूप में शिरकत की। वेबिनार के दौरान छात्राओं से संबोधित होते हुए उन्होंने सबसे पहले नशीली दवाओं की रोकथाम की ज़रूरत पर ज़ोर दिया और सार्वजनिक स्वास्थ्य के विभिन्न निर्धारकों पर चर्चा करते हुए इस तथ्य पर प्रकाश डाला कि नशीली दवाओं की रोकथाम का विषय सार्वजनिक स्वास्थ्य से जुड़ा हुआ है। आगे बात करते हुए उन्होंने सामाजिक-आर्थिक कारकों, भौतिक वातावरण, स्वास्थ्य व्यवहार और स्वास्थ्य देखभाल जैसे विभिन्न पहलुओं द्वारा सार्वजनिक सेहत में डाले जाते योगदान के बारे में भी बात की। इसके अलावा, उन्होंने नशीली दवाओं की रोकथाम के विभिन्न तरीकों पर प्रकाश डालते हुए इस समस्या से निपटने के लिए जागरूकता और शुरुआत में ही की गई दखलअंदाज़ी के महत्व को भी बखूबी दर्शाया। इसके साथ ही उन्होंने नशीली दवाओं की रोकथाम को समाज को एक व्यापक सेवा प्रदान करने का हिस्सा बताया और इस खतरे से निपटने में एक मनोचिकित्सक द्वारा प्रदान की जाने वाली सहायता पर भी ध्यान केंद्रित किया। उन्होंने कहा कि शुरुआत में ही की गई दखलअंदाज़ी, इलाज और निरंतर देखभाल नशे की रोकथाम योजना में सहायक हो सकती है। इसके अलावा उन्होंने पंजाब की मौजूदा स्थिति के संदर्भ में नशे की समस्या पर चर्चा करते हुए होमोरेशनलिस की अवधारणा के बारे में भी बताया। वेबिनार के अंत में उन्होंने छात्रों द्वारा पूछे गए विभिन्न प्रश्नों का बहुत ही संतोषजनक ढंग से उत्तर दिया। विद्यालय प्राचार्या प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने इस अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार के सफल आयोजन के लिए साइकोलॉजी विभाग के सभी प्राध्यापकों के द्वारा किए गए प्रयासों की भी सराहना की।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)