सूर्य,पवन एवं बायोमास से 500 गीगा वॉट ऊर्जा पैदा करेगा भारत - News 360 Broadcast
सूर्य,पवन एवं बायोमास से 500 गीगा वॉट ऊर्जा पैदा करेगा भारत

सूर्य,पवन एवं बायोमास से 500 गीगा वॉट ऊर्जा पैदा करेगा भारत

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (नेशनल न्यूज़ ): India will generate 500 GW energy from Sun, Wind and Biomass : केंद्रीय ऊर्जा और नवीन तथा नवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर.के. सिंह ने आज नई दिल्ली में “वर्ष 2030 तक 500 गीगा वॉट से अधिक सूर्य,पवन,बायोमास ऊर्जा क्षमता के एकीकरण के लिए पारेषण प्रणाली (distribution system) योजना की शुरुआत की। विद्युत मंत्रालय ने केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के अध्यक्ष के नेतृत्व में एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया था ।जिसमें “भारतीय सौर ऊर्जा निगम”, “भारतीय केंद्रीय पारेषण उपयोगिता लिमिटेड”, “भारतीय पावर ग्रिड कॉरपोरेशन लिमिटेड”, “राष्ट्रीय सौर ऊर्जा संस्थान” और “राष्ट्रीय पवन ऊर्जा संस्थान” के प्रतिनिधि शामिल थे। वर्ष 2030 तक गैर-जीवाश्म ईंधन आधारित 500 गीगा वॉट बिजली की स्थापित क्षमता के लिए आवश्यक वितरण प्रणाली की योजना की आवश्यकता है।समिति ने राज्यों और अन्य हितधारकों के परामर्श से “वर्ष 2030 तक 500 गीगा वॉट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता के एकीकरण के लिए पारेषण प्रणाली” शीर्षक से एक विस्तृत योजना तैयार की। यह योजना गैर-जीवाश्म ईंधन आधारित 500 गीगा वॉट बिजली को एकीकृत करने के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में एक बड़ा कदम है। वर्ष 2030 तक 537 गीगा वॉट नवीकरणीय ऊर्जा क्षमता हासिल करने के लिए आवश्यक पारेषण प्रणाली की व्यापक योजना की आवश्यकता है। 500 गीगा वॉट गैर-जीवाश्म आधारित बिजली के लिए आवश्यक नियोजित अतिरिक्त पारेषण प्रणाली में 8120 सीकेएम हाई वोल्टेज डायरेक्ट करंट ट्रांसमिशन कॉरिडोर (+800 किलोवॉट और +350 किलोवॉट), 765 किलोवॉट एसी लाइनों के 25,960 सीकेएम, 400 किलोवॉट लाइनों के 15,758 सीकेएम और 2.44 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 220 केवी केबल के 1052 सीकेएम शामिल हैं। पारेषण योजना में 0.28 लाख करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर गुजरात और तमिलनाडु में स्थित 10 गीगा वॉट अपतटीय पवन से बिजली उत्पादन के लिए आवश्यक पारेषण प्रणाली भी शामिल है। नियोजित पारेषण प्रणाली के साथ, वर्तमान में 1.12 लाख मेगावाट से वर्ष 2030 तक अंतर-क्षेत्रीय क्षमता बढ़कर लगभग 1.50 लाख मेगावाट हो जाएगी।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)