45 मिनट बाद बॉडी पाॅश्चर बदलना स्पाइन के लिए बहुत जरूरी : डॉ दीपाशु सचदेवा - News 360 Broadcast
45 मिनट बाद बॉडी पाॅश्चर बदलना स्पाइन के लिए बहुत जरूरी : डॉ दीपाशु सचदेवा

45 मिनट बाद बॉडी पाॅश्चर बदलना स्पाइन के लिए बहुत जरूरी : डॉ दीपाशु सचदेवा

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (जालंधर/स्वस्थ्य ) : Changing body posture after 45 minutes is very important for spine: Dr. Dipashu Sachdeva : श्री राम न्यूरो सेंटर के दो साल पूरे होने की खुशी में दो दिवसीय मुफ्त चैक अप कैंप लगाया गया, जिसमें 223 लोगों ने अपना चैक अप करवाया।

कैंप का आयोजन श्री राम न्यूरो सेंटर, 26- 27, लिंक रोड, लाजपत नगर में 21 और 22 जनवरी को 9 से 3 बजे तक लगाया गया, जिसमें आए हुए मरीजों की मुफ्त जांच की गई व उन्हें बीमारियों से बचने के उपायों के बारे में बताया गया।कैंप का आयोजन अस्पताल के एम. डी व न्यूरो एंड स्पाइन सर्जन डॉ दीपांशु सचदेवा द्वारा किया गया और उन्होंने बताया की ये कैंप अस्पताल की सफलता को समर्पित है।अस्पताल के दो वर्ष पूरे होने पर जहां मुफ्त जांच कैंप लगाया गया वहीं दिन की शुरुआत सुखमनी साहिब के पाठ के साथ सरबत के भले की अरदास करके की गई।

कैंप के पहले दिन 110 लोगों ने और दूसरे दिन 113 लोगों ने अपनी सेहत की जांच करवाई। कैंप में लोगो को जांच डाॅ दीपाशु सचदेवा (न्यूरो और स्पाइन सर्जन), डॉ अमनदीप कौर (क्रिटिकल केयर मेडिसिन एवम इंटरवेंटविस्ट) , डॉ प्रमोद महेंद्र (आर्थो सर्जन) और डॉ मनदीप सिंह ( न्यूरो फिजियोथैरेपिस्ट) की माहिर टीम द्वारा किया गई। फिजियोथैरेपिस्ट की एडवांस तकनीक द्वारा लोगों की मुफ्त फिजियोथेरेपी की गई और डायटिशियन द्वारा फ्री कंसल्टेशन कर डाइट चार्ट दिए गए।

डाॅ दीपाशु के द्वारा कैंप में आए हुए सभी मरीजों की लाइफ स्टाइल को बेहतर बनाने के लिए टिप्स भी दिए और बताया की सर्दियों में ब्लड गाढ़ा होने की वजह से ब्लड क्लॉट होने के चांस बढ़ जाते है, जिससे हैमरेज का खतरा भी बढ़ जाता है। सर्दियों में गरम पानी का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए। अधिक उमर के लोगों को सुबह और शाम को सैर का परहेज करना चाहिए और दोपहर के समय ही घर से निकलना चाहिए और कसरत पर ध्यान देना चाहिए जिस से शरीर में रक्त का दौरा सही से चलता रहे।

आज कल लोग फोन और कंप्यूटर पर अधिक समय व्यतीत करते है जिससे उनका पाश्चर बिगड़ जाता है। इसलिए लोगो को चाहिए कि वो हर 45 मिनट बाद अपना पाश्चर बदले ताकि स्पाइन की दिक्कत और पीठ दर्द से बचा जा सके। सर्वाइकल की समस्या हर वर्ग के लोगों में बढ़ रही है जिससे बचने के लिए झुक कर कोई भी भारी वस्तु न उठाए।

डॉ प्रमोद ने बताया की आजकल लोगों में आर्थराइटिस की दिक्कत बहुत बढ़ रही है जिसका मुख्य कारण गलत खान पान व बढ़ रही शुगर की दिक्कत है। आज के समय में शुगर और आर्थराइटिस की मॉनिटरिंग हर वर्ग के लोगों के लिए अनिवार्य है ताकि आगे बड़ी दिक्कतों से बचा जा सके।शुगर और आर्थराइटिस जोड़ों की दिक्कत को अधिक बढ़ा देता है, जिससे बचाव के लिए शारीरिक कसरत बहुत जरूरी है।

डाॅ मनदीप ने बताया की आज के समय में लोग हर काम मशीन से करना चाहते है, उनका हर काम बैठ कर हो जाए, जो हर व्यक्ति को आलसी बना रहे है। बैठ कर काम करने की आदत ने लोगों की शारीरिक कसरत और काम को कम कर दिया है। आधुनिक लाइफस्टाइल व गलत पाश्चर व फोन पर अधिक समय पर गेम खेलना भी स्पाइन की दिक्कत को युवाओं में अधिक बढ़ा रहा है।

जिम में भी फिजियोथैरेपिस्ट की गाइड लाइंस के बिना वेट लिफ्टिंग गुटनों व बैक पेज, ए सी एल और पी सी एल टीयर की दिक्कत को अधिक बढ़ावा देता है। लोगों को चाहिए जिम में किया गया वर्क आउट व वेट लिफ्टिंग किसी फिजियोथैरेपिस्ट की देख रेख में ही करनी चाहिए। स्ट्रोक में नॉर्मल फिजियो की जगह रिहेब फिजियो पर ज्यादा फोकस किया जाना चाहिए। न्यूरो पैरालाइज्ड लोग भी फिजियोथैरेपिस्ट की मदद से अपनी पुरानी दिनचर्या में वापिस आ सकते है।

कैंप में जांच को आए लोगों का फ्री बी एम डी और फ्री ब्लड शुगर किया गया और इसके साथ साथ मरीजों को ब्लड टेस्ट दवाइयां और सर्जरी पर भी खास छूट दी गई । इसके अलावा डायटिशियन द्वारा मुफ्त कंसल्टेशन और डाइट चार्ट भी दिया गया।

इस कैंप में अश्वनी सचदेवा, नीरज शर्मा, जसप्रीत सिंह, तजिंदर सिंह, योगेश शर्मा, सुनील शर्मा, प्रभजोत सिंह, सुखजिंदर कौर आदि के अलावा अस्पताल स्टाफ उपस्थित था ।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)