बादल और ढींडसा परिवार ने मिली-भगत से संगरूर मैडीकल कॉलेज के काम में डाली रुकावट - मुख्यमंत्री - News 360 Broadcast
बादल और ढींडसा परिवार ने मिली-भगत से संगरूर मैडीकल कॉलेज के काम में डाली रुकावट – मुख्यमंत्री

बादल और ढींडसा परिवार ने मिली-भगत से संगरूर मैडीकल कॉलेज के काम में डाली रुकावट – मुख्यमंत्री

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट (संगरूर न्यूज़): Badal and Dhindsa family in connivance obstructed the work of Sangrur Medical College – Chief Minister : पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने आज बादल और ढींडसा परिवार पर तीखा निशाना साधते हुये कहा कि इन दोनों परिवारों ने अपने संकुचित राजनैतिक हितों की ख़ातिर संगरूर के मैडीकल कॉलेज के काम में रुकावट डाली हुयी है। रविवार को संगरूर में पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुये मुख्यमंत्री ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि ऐसे घिनौने हथकंडे अपनाने से इन दोनों परिवारों का जन विरोधी चेहरा बेनकाब हुआ है क्योंकि यह परिवार नहीं चाहते कि आम लोगों को यहाँ बनने वाले मैडीकल कॉलेज से बेहतर इलाज और शिक्षा मुहैया हो जिस कारण इलाके के लिए इस प्रतिष्ठित प्रोजैक्ट के रास्ते में रूकावटें डालने के लिए मिली-भगत से साजिशें रचीं गईं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने संगरूर के नज़दीक संत बाबा अतर सिंह मसतूआना जी की याद में उच्च दर्जे का मैडीकल कॉलेज स्थापित करने का फ़ैसला किया था जिसके लिए 460 करोड़ रुपए के फंड रखे गए थे। भगवंत मान ने कहा कि इस प्रोजैक्ट का काम शुरू करने के लिए राज्य सरकार ने 460 करोड़ रुपए में से बहुत से फंड पहले ही जारी कर दिए थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मैडीकल कॉलेज का पहला अकादमिक सैशन इस साल मार्च महीने से शुरू होना था जिससे समूचे मालवा क्षेत्र को बेहतर मैडीकल सहूलतें हासिल होनी थीं। उन्होंने कहा कि इलाके के नौजवानों को उच्च मैडीकल शिक्षा के बेहतर मौके यहीं मिलने शुरू होने थे और इन नौजवानों को मैडीकल शिक्षा के लिए मजबूरनवश युक्रेन और अन्य विदेशी मुल्कों में न जाना पड़ता। इसके इलावा भगवंत मान ने कहा कि मैडीकल कॉलेज ने जहाँ इलाके के नौजवानों को प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष तौर पर रोज़गार के मौके मुहैया करवाने थे, वहीं मालवा पट्टी के विकास में बड़ा योगदान डालना था।

मुख्यमंत्री ने दुख के साथ कहा कि इस गौरवमयी प्रोजैक्ट को रोकने के लिए बादल और ढींडसा परिवार ने आपस में सुर से सुर मिलाते हुए अपनी राजनैतिक मतभेदों को भी दरकिनार कर दिया। उन्होंने कहा कि इन रसूखदार परिवारों ने पूरी ताकत लगाई हुई है कि किसी भी तरह यह प्रोजैक्ट शुरू न हो और यहाँ तक कि कानूनी तौर पर रुकावटें पैदा की गई। भगवंत मान ने कहा कि बादलों ने इस प्रोजैक्ट को स्थापित न होने देने के लिए शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का भी दुरुपयोग किया जिससे आम लोगों को कोई राहत न मिल सके।
मुख्यमंत्री ने दुख के साथ कहा कि यह कितनी दुर्भाग्यपूर्ण बात है कि शिरोमणि कमेटी बादल परिवार के हाथों में कठपुतली वाली भूमिका निभा रही है और इस संस्था को बादलों की तरफ से अपने राजनैतिक मंसूबे पूरे करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस प्रोजैक्ट को रोकने के लिए बादल शिरोमणि कमेटी का दुरुपयोग कर रहे हैं जबकि इस प्रोजैक्ट ने इलाके के लोगों की तकदीर बदल देनी थी। भगवंत मान ने लोगों से अपील की कि जब भी अकाली उनके पास आएं तो अकालियों से इस प्रोजैक्ट को रोकने के पीछे के मकसद के बारे सवाल ज़रूर करें।

मुख्यमंत्री ने दोहराया कि यह मैडीकल कॉलेज हर कीमत पर शुरू करने के लिए उनकी सरकार दृढ़ वचनबद्ध है जिससे राज्य के लोगों को इसका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि बादल या ढींडसा जो करना चाहते हैं, कर लें परन्तु प्रोजैक्ट हर हाल में शुरू होगा। भगवंत मान ने कहा कि वह बादलों और ढींडसों को उनके इन घृणित कामों को सफल नहीं होने देंगे और आम लोगों की भलाई वाला यह प्रोजैक्ट जल्दी शुरू होगा।

विरोधी पक्ष को आड़े हाथों लेते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि अकाली लीडरशिप का एकमात्र एजेंडा राज्य के विकास की राह से उतारना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार के विरुद्ध कोई ठोस मुद्दा न होने के कारण बौखलाए हुए अकाली मीडिया में मुख्य समाचार बटोरने के लिए व्यर्थ प्रयत्न कर रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि वह पंजाब को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए पूरी तरह वचनबद्ध हैं और उनको कोई नहीं रोक सकता।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)