प्रशासन द्वारा 1541 पी.डबलयू.डी. और 80 साल से अधिक आयु वोटरों को बैलट पेपर जारी करने की मंज़ूरी - News 360 Broadcast
प्रशासन द्वारा 1541 पी.डबलयू.डी. और 80 साल से अधिक आयु वोटरों को बैलट पेपर जारी करने की मंज़ूरी

प्रशासन द्वारा 1541 पी.डबलयू.डी. और 80 साल से अधिक आयु वोटरों को बैलट पेपर जारी करने की मंज़ूरी

Listen to this article

न्यूज़ 360 ब्रॉडकास्ट, जालंधर: पी.डबलयू.डी. और 80 साल से अधिक आयु के वोटरों को बैलट वोटिंग सेवाओं की सुविधा देने के लिए ज़िला प्रशासन जालंधर की तरफ से आज इस सम्बन्ध में योग्य वोटरों से सहमति फार्म (12 -डी) प्राप्त करने के बाद 1541 पोस्टल बैलट जारी करने की मंज़ूरी दे दी गई है। इस सम्बन्धित और ज्यादा जानकारी देते हुए डिप्टी कमिशनर घनश्याम थोरी ने बताया कि 80 साल से अधिक आयु के कुल 1270 वोटर और 271 पी.डबलयू.डी. वोटर घर में ही अपनी वोट डाल सकेंगे ,क्योंकि ज़िला प्रशासन की तरफ से उनके लिए पोस्टल वोटिंग का प्रबंध किया जायेगा।

उन्होंने बताया कि जालंधर में कुल 11563 पी.डबलयू.डी. और 80 साल से अधिक 45325 वोटर रजिस्टर्ड हैं, जिनमें से 1541 की तरफ से पोस्टल बैलट के लिए अपनी सहमति दी गई है। उन्होंने बताया कि फ़िल्लौर हलके में 209, नकोदर, शाहकोट, करतारपुर, जालंधर पश्चिमी, जालंधर केंद्रीय, जालंधर उत्तरी, जालंधर कैंट और आदमपुर विधान सभा हलके में क्रम अनुसार 69, 103, 22, 197, 240, 147, 381 और 173 वोटरों की तरफ से पोस्टल बैलट की सुविधा का चयन किया गया है।

 

डिप्टी कमिशनर ने आगे कहा कि प्रशासन की तरफ से पी.डबलयू.डी. और बुज़ुर्ग वोटरों के लिए पोलिंग स्टेशनो पर सभी ज़रुरी प्रबंधों को यकीनी बनाया है, जिस में व्हील चेयरो की उपलब्धता, रैम्प, वलंटियरों की तैनाती शामिल है। उन्होंने कहा कि विशेष सहयोग की ज़रूरत वाले वोटरों की सुविधा के लिए कोई कमी बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। उन्होंने सभी वोटरों को 20 फरवरी, 2022 को वोटों वाले दिन लोकतंत्र को और मज़बूत बनाने के लिए अपने वोट के अधिकार का इस्तेमाल करने की अपील की।

इस दौरान चुनाव स्टाफ़ , जिस को योग्य पी.डबलयू.डी. और 80 से अधिक आयु के वोटरों के घर जा कर बैलट वोटिंग करवाने का काम सौंपा गया है, के लिए एक प्रशिक्षण सैशन करवाया गया। अतिरिक्तडिप्टी कमिशनर (विकास) जसप्रीत सिंह की तरफ से ऐच.ऐम.वी कालेज में पूरी प्रशिक्षण प्रक्रिया की निगरानी की गई। सैशन में आधिकारियों की तरफ से पालन की जाने वाली स्टैंडर्ड ओपरेटिंग प्रक्रिया (ऐसओपी) के सम्बन्ध में चुनाव स्टाफ़ को प्रशिक्षण दिया गया।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)