AGTF ने गैंगस्टर टीनू को पुलिस हिरासत से भागने में मदद करने के जिम मालिक समेत, 2 दोषियों को किया गिरफ्तार - News 360 Broadcast
AGTF ने गैंगस्टर टीनू को पुलिस हिरासत से भागने में मदद करने के जिम मालिक समेत, 2 दोषियों को किया गिरफ्तार

AGTF ने गैंगस्टर टीनू को पुलिस हिरासत से भागने में मदद करने के जिम मालिक समेत, 2 दोषियों को किया गिरफ्तार

Listen to this article

NEWS 360 BROADCAST :   AGTF arrests 2 convicts, including gym owner, for helping gangster Tinu escape from police custody  आज AGTF टीम ने गैंगस्टर दीपक टीनू को पुलिस हिरासत से भागने के लिए मदद करने वाले 3 दोषियों को लुधियाना से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार किये गए दोषियों से वारदात में इस्तेमाल की गई स्कोडा कार,जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर PB 11 CJ 1563 है भी बरामद की गई।

गिरफ़्तार किये गए व्यक्तियों की पहचान कुलदीप सिंह उर्फ कोहली, राजवीर सिंह उर्फ काज़मा और रजिन्दर सिंह उर्फ गोरा निवासी लुधियाना के तौर पर हुई है। कुलदीप कोहली जिम का मालिक है और जिम चलाने की आड़ में वह नशे का भी कारोबार करता था।

DGP पंजाब गौरव यादव ने बताया कि चल रही जांच में सामने आया है कि तीनों मुलजिम टीनू के नज़दीकी साथी थे और उन्होंने टीनू को पुलिस हिरासत में से भागने में मदद की थी, जिसके उपरांत एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स और विशेष जांच टीम (SIT ) ने इनको लुधियाना से गिरफ़्तार किया है।

DGP ने कहा कि जांच से पता लगा है कि 1 अक्तूबर को दीपक टीनू ने कोहली को गर्लफ्रेंड को भेजने के लिए कहा था, जिसने सीआईए मानसा में अपने साथियों समेत टीनू के भागने में मदद की थी। उन्होंने बताया कि राजवीर सिंह ने अपने साथी गगनदीप खैहरा निवासी लुधियाना के साथ मिलकर ज़ीरकपुर से गर्लफ्रेंड को अपने साथ लिया और कोहली द्वारा दिए कपड़ों के थैले समेत सीआईए मानसा के नज़दीक छोड़ दिया। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस टीमें गगनदीप को पकडऩे के लिए छापेमारी कर रही हैं।

DGP ने यह भी कहा कि मुलजिम कुलदीप कोहली पिछले दो सालों से दीपक टीनू के संपर्क में था, जब वह दोनों कपूरथला जेल में बंद थे। उन्होंने कहा कि कोहली को साल 2021 में ज़मानत पर रिहा किया गया था, जिसके उपरांत वह टीनू के हरियाणा आधारित साथियों के साथ मिलकर सरहद पार से नशा तस्करी में शामिल हो गया।

वर्णन योग्य है कि इंस्पेक्टर जनरल ऑफ पुलिस पटियाला रेंज एम.एस. छीना के नेतृत्व वाली चार सदस्यीय विशेष जांच टीम इस मामले की दिन-रात जांच कर रही है और इस अपराध में शामिल सभी दोषियों को जल्द ही गिरफ़्तार कर लिया जायेगा।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)