के.एम.वी. तथा गुरु अंगद देव टीचिंग लर्निंग सेंटर एस.जी.टी.बी. खालसा कॉलेज, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली का संयुक्त प्रयास

के.एम.वी. तथा गुरु अंगद देव टीचिंग लर्निंग सेंटर एस.जी.टी.बी. खालसा कॉलेज, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली का संयुक्त प्रयास

एजुकेशन डेस्क: कन्या महाविद्यालय, जालंधर के साइंस विभाग द्वारा डी.बी.टी. स्टार स्टेटस के अंतर्गत डिपार्टमेंट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी, भारत सरकार द्वारा स्पॉन्सर्ड गुरु अंगद देव टीचिंग लर्निंग सेंटर एस.जी.टी.बी. खालसा कॉलेज, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली के संयुक्त प्रयास से डेवलपमेंट ऑफ ई-कंटेंट एंड मूकस इन फोर क्वाड्रेंटस विषय पर आयोजित एक हफ्ते के राष्ट्रीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के दूसरे दिन का सफल आयोजन करवाया गया। भारत के 18 प्रांतों से 200 से भी अधिक प्रतिभागियों की सहभागिता वाले इस आयोजन के दूसरे दिन के पहले टेक्निकल सेशन में डॉ. अरुण जुल्का, एसोसिएट प्रोफेसर, महाराजा अग्रसेन कॉलेज, यूनिवर्सिटी ऑफ दिल्ली ने बतौर स्रोत वक्ता शिरकत की।

प्रतिभागियों से संबोधित होते हुए उन्होंने कैनवा तथा रेंडरफारेस्ट के बारे में विस्तार से चर्चा की। उन्होंने एनीमेटेड वीडियोस के किसी भी कक्षा में उपयोग के साथ-साथ सोशल मीडिया पर सांझा करने के संबंध में समझाने के साथ ही लोगो डिजाइनिंग, प्रेजेंटेशन, पोस्टरज़, ब्रोशर्स, रिज्यूमे तथा फ्लायर्स को बनाने में कैनवा के उपयोग तथा इसके महत्व को विस्तार सहित बयान किया।
विद्यालय प्रिंसिपल प्रो. अतिमा शर्मा द्विवेदी ने स्रोत वक्ताओं के प्रति आभार व्यक्त करते हुए साइंस विभाग के द्वारा इस राष्ट्रीय फैकेल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम के दूसरे दिन के सफल आयोजन पर मुबारकबाद दी। इन सेशनज़ में डॉ. नताशा के द्वारा संचालक की भूमिका निभाई गई।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)