भारत में चक्रवर्ती तूफान का खतरा बरकरार

नेशनल डेस्क

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) दिल्ली के चक्रवात चेतावनी विभाग के अनुसार:

बंगाल की दक्षिण-पश्चिमी खाड़ी में चक्रवाती तूफान “निवार”

दक्षिण रायलसीमा और इससे सटे इलाकों में बने गहरे दबाव का क्षेत्र पिछले 6 घंटों के दौरान 13 किमी प्रति घंटे की गति के साथ उत्तर की तरफ बढ़ रहा है। 26 नवंबर, 2020 को भारतीय समयानुसार 1730 बजे यह दक्षिण रायलसीमा और उसके निकट  30 किलोमीटर पश्चिम में तिरुपति तथा चेन्नई के उत्तर पश्चिम में 115 किलोमीटर दूर स्थित था।

इसके उत्तर की तरफ बढ़ने की संभावना है, अगले 06 घंटों के दौरान दबाव कमजोर हो जाएगा और बाद के 12 घंटों के दौरान कम दबाव वाले क्षेत्र में तब्दील हो जाएगा।

इसके प्रभाव में 26 नवंबर को आंध्र प्रदेश के  चित्तूर, कुरनूल, प्रकाशम, कुडप्पा तथा नेल्लोर जिलों और दक्षिण-पूर्व तेलंगाना के अधिकांश/ कई जगहों पर बहुत भारी बारिश होने के साथ-साथ अधिकांश स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। उत्तरी तमिलनाडु के आस-पास के जिलों, आंध्र प्रदेश के शेष जिलों और दक्षिण-पूर्व तेलंगाना में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

CATEGORIES
Share This

COMMENTS

Wordpress (0)